करेला है ओषधीय गुणों से भरपुर

Sunday, Aug 09, 2020 | Last Update : 04:19 AM IST

करेला है ओषधीय गुणों से भरपुर

करेले में विटामिन ए, बी, बी१, बी२, कैल्सियम, आयरन, कापर, फास्फोरस, पोटैसियम, जिंक आदि पौषक तत्व पाए जाते है। जो हमारे सेहत को फीट रखने के लिए बहुत जरूरी होते है। करेले में कॉलिन तथा ल्यूटेन नामक तत्व भी पाए जाते है जो त्वचा , बाल , नर्व तथा आँखों के लिए फायदेमंद होते है।
May 7, 2019, 3:14 pm ISTLifestyleAazad Staff
Bitter Gourd
  Bitter Gourd

करेला वैसे तो खाने में काफी कडवा होता है लेकिन इसमें मौजूद पौषक तत्व हमारे शरीर के लिए काफी लाभदायक होते है। करेले में ऐसे गुण मौजूद होते है तो बुरे कोलेस्ट्रोल को दूर कर अच्छे कोलेस्ट्रोल को हमारे शरीर में शामिल करता है | करेले का अगर नियमित रुप से सेवन करें तो ये हमारे शरीर को ह्रदय रोग जैसी कई बीमारियों से भी बचाता है करेला वजन कम करने में भी लाभादायक होता है | डायबिटीज के रोगियों के लिए करेला बहुत महत्त्व रखता है। लेकिन यदि सावधानी पूर्वक इसका इस्तेमाल नहीं किया जाये तो यह नुकसानदेह भी हो सकता है।

करेले का सेवन डायबिटीज के साथ पेट के कीड़ों को जड़ से खत्म करने में भी मददगार साबित होता है। इसके लिए एक बड़ा चम्मच करेले के पत्तियों के रस को एक गिलास छाछ में मिलाकर नियमित रूप से सेवन करने से पेट के कीड़ों से राहत दिलाता है। इतना ही नहीं करेला लीवर को मजबूत करने में भी लाभदायक है।

और ये भी पढ़े: खाली पेट लहसुन खाने से होते है ये फायदे

अगर आप अपच या कब्ज से परेशान रहते हैं, तो ऐसे में करेले के रस का नियमित रूप से सेवन करें। इससे कब्ज के साथ एसिडिटी, छाती में जलन और खट्टी डकारों से छुटकारा मिलता है, साथ ही पाचन तंत्र को मजबूती मिलती है।  करेले का जूस खली पेट पीने से पाचन क्रिया ठीक रखता है और  सोराइसिस के लक्षणों को दूर करता है।

पीलिया और लीवर के रोगों के लिए करेला रामबाण होता है। करेले के रस को रोजाना पीने से पीलिये में कुछ ही दिनों में राहत मिलती है। अस्थमा यानि सांस की बीमारी में भी करेले का सेवन करना बेहद फायदेमंद होता है। धूल-धुएं और अस्थमा अटैक को रोकने के लिए करेले के रस में तुलसी का रस,शहद मिलाकर रात में सेवन करने से लाभ।

...

Related stories

Featured Videos!