Most Popular

Friday, Sep 17, 2021 | Last Update : 07:31 PM IST

Most Popular

  • जाने क्या है धारा 151

    जाने क्या है धारा 151

    धारा 151 का प्रयोग पुलिस जन सामान्य को नियंत्रित करने के दौरान सबसे ज्यादा करती है। धारा 151 के तहत पुलिस द्वारा गिरफ्तार आरोपी को थाने से ही जमानत का प्रावधान होता है।

  • Types of Ration Card In India

    Types of Ration Card In India

    State Governments in India issue different types of Ration Cards. They are provided according to the groups divided as per income. Read more..

  • वुशु क्या है? आइए विस्तृत में जाने वुशु की शुरुआत भारत में कैसे हुई ?

    वुशु क्या है? आइए विस्तृत में जाने वुशु की शुरुआत भारत में कैसे हुई ?

    पिछले साल, एक महिला खिलाड़ी पूजा कैडिया ने वुशु के विश्व चैंपियनशिप समारोह में स्वर्ण पदक जीतने के बाद इतिहास बनाया - एक ऐसा खेल भारत में इतना लोकप्रिय नहीं है। पूजा ने अंतिम दौर में इव्जेनिया स्टेपानोवा को हराकर अपनी ऐतिहासिक जीत प्राप्त की।आइये जानते है इस खेल के बारे में ।

  • भारत में दूरदर्शन का इतिहास

    भारत में दूरदर्शन का इतिहास

    जब दूरदर्शन की शुरुआत हुई थी तो कुछ समय के लिए ही इस पर कार्यक्रमों का प्रसारण किया जाता था। जो हफ्ते में तीन दिन ही प्रसारित होता था। 1965 में आल इंडिया रेडियो के तौर पर इसकी शुरुआत की गई थी।

  • Chaitanya Mahaprabhu (चैतन्य महाप्रभु)

    Chaitanya Mahaprabhu (चैतन्य महाप्रभु)

    चैतन्य महाप्रभु वैष्णव धर्म के भक्ति योग के परम प्रचारक एवं भक्तिकाल के प्रमुख कवियों में से एक हैं। Chaitanya Mahaprabhu was one of the most respected Hindu saints of the 16th century.

  • Unknown Authors

    Unknown Authors

    “A mistake should be your teacher, not your attacker. A mistake is a lesson, not a loss. It is a temporary, necessary detour, not a dead end.”

  • हिंदी के प्रसिद्ध कवि सोहन लाल द्विवेदी

    हिंदी के प्रसिद्ध कवि सोहन लाल द्विवेदी

    सोहन लाल द्विवेदी की कविताओं में वो भाव हुआ करते थे जिनके हरिवंशराय ‘बच्चन’ भी कायल हो जाते थे। राष्ट्रकवि के तौर पर विखायात सोहन लाल जी को पद्म श्री से सम्मानित किया जा चुका है।उनके द्वार महात्मा गांधी के सम्मान में लिखा गया खादी गीत आज भी लोकप्रिय है जिनके होल कुछ इस प्रकार है खादी के धागे-धागे में अपनेपन का अभिमान भरा। माता का इनमें मान भरा……..।