Should Know Facts & Rights

Saturday, May 21, 2022 | Last Update : 11:21 PM IST

Should Know

  • डेंगू के लक्षण और सावधानियां

    डेंगू के लक्षण और सावधानियां

    डेंगू एक वायरल रोग है जो संक्रमित एडीज़ मच्छर के काटने से होता है। यह मच्छर अधिकतर दिन के समय काटता है। डेंगू होने पर क्या किया जाए और क्या सावधानी रखनी चाहिए इसकी जानकारी होने से बचाव आसान है।

  • ब्लैक होल क्या है और इससे जुड़ी कुछ रोचक बाते

    ब्लैक होल क्या है और इससे जुड़ी कुछ रोचक बाते

    विज्ञान ने एक बहुत बड़ी उपलब्धि हासिल की है। दरसल ११ अप्रैल को ब्लैक होल की पहली तस्वीर जारी की गई है। ब्लैक होल एक ऐसी ब्रह्मांड में मौजूदा रहस्यमय खगोलीय शक्ति है जिसके अंदर प्रकाश या जो कुछ भी जाता है, वह वापस नहीं आता है।

  • जलियांवाला बाग हत्याकांड जहां निहत्थे भारतीयों पर चलाई गई थी अंधाधुंध गोलियां

    जलियांवाला बाग हत्याकांड जहां निहत्थे भारतीयों पर चलाई गई थी अंधाधुंध गोलियां

    इतिहास के पन्नों में १३ अप्रैल का दिन काला अध्याय माना जाता है। जलियांवाला बाग नरसंहार में आज ही के दिन निहत्थे भारतीयों को मौत के घाट उतार दिया गया था। वहीं दूसरी तरफ आज का दिन सिख समुदाय के लिए बेहद खास माना गया है। आज ही के दिन साल १६९९ को सिखों के दसवें गुरु गोविंद सिंह जी ने खालसा पंथ की स्थापना की थी। इसी दिन फसल पकने की खुशी में बैसाखी का त्यौहार बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है। 

  • Voter ID Card के लिए ऑनलाइन कैसे करें आवेदन ?

    Voter ID Card के लिए ऑनलाइन कैसे करें आवेदन ?

    भारत में वोटर आईडी के लिए वही व्यक्ति आवेदन कर सकते है जिनकी उम्र कम से कम १८ वर्ष हो। अगर आपकी उम्र १८ वर्ष से कम है तो आप वोटर आईडी के लिए रजिस्ट्रेशन नहीं करा सकते।

  • साइबर क्राइम क्या है ? इससे कैसे करें बचाव

    साइबर क्राइम क्या है ? इससे कैसे करें बचाव

    सोशल मीडिया के जरिए वायरस या ठगी जैसे कई अपराध को अंजाम दिया जाता है और इसी अपराध को इंटरनेट की भाषा में साइबर क्राइम का नाम दिया गया है। जिसमें कई प्रकार के अपराध आते हैं।

  • चुनाव आचार संहिता का पालन करना जाने क्यों है जरूरी

    चुनाव आचार संहिता का पालन करना जाने क्यों है जरूरी

    देश में स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए चुनाव आयोग के बनाए गए नियमों को आचार संहिता कहते हैं। चुनावों की तारीखों से लेकर परिणामों की घोषणा तक सत्ताधारी व अन्य राजनीतिक दलों के साथ सरकारी अधिकारियों के लिए इन नियमों का पालन करना अनिवार्य होता है।

  • मनोहर पर्रिकर का IIT से CM बनने तक का सफर

    मनोहर पर्रिकर का IIT से CM बनने तक का सफर

    मनोहर पर्रिकर देश के पहले आईआईटी ग्रेजुएट मुख्यमंत्री रहें। उन्होंने २६ साल की उम्र में आरएसएस का दामन थाम लिया था। और साल १९९० में उन्होंने रामजन्म भूमि आंदोलन में बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया। पर्रिकर की गिनती देश के सबसे साफ और ईमानदार नेताओं में की जाती थी।