Sunday, Feb 25, 2018 | Last Update : 05:03 AM IST

Leaders

  • सरदार वल्लभ भाई पटेल भारत के लौह पुरुष

    सरदार वल्लभ भाई पटेल भारत के लौह पुरुष

    सरदार वल्लभ भाई पटेल स्वंत्रता संगरमी थे, वे भारत के पहले ग्रह मंत्री और उप प्रधानमंत्री बने पटेल  बारडोली सत्यागृह का जब  नेतृव्य कर रहे थे तब सत्यागृह की सफलता पर वहां की महिलाओ ने उनको सरदार की उपाधि दे दी  पटेल को भारत का लौह पुरुष भी माना जाता है |

  • जानिए भारत के साइंटिस्ट ए पी जे अब्दुल कलाम की जीवनी

    जानिए भारत के साइंटिस्ट ए पी जे अब्दुल कलाम की जीवनी

    डॉक्टर एपीजे अब्दुल कलाम का जन्म 15 अक्टूबर 1931 तमिलनाडु के जिले रामेश्वरम में हुआ। इनका पूरा नाम अवुल पकिर जैनुलअबिदीन अब्दुल कलाम था। उनका जन्म एक मुसलमान परिवार में हुआ था।अब्दुल कलाम के पिता का नाम जैनुलअबिदीन था।

  • वेंकैया नायडू का जीवन परिचय

    वेंकैया नायडू का जीवन परिचय

    हाल ही में कुछ दिन पहले राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव हुए थे। जिसमें रामनाथ कोविंद इस पद के लिए जीते हैं। वही उपराष्ट्रपति पद के लिए वैंकेया नायडू को उम्मीदवार के रूप में खड़ा किया गया है। आज हम आपको बताएंगे कि वैंकेया नायडू की जीवन शैली क्या है, वैंकेया नायडू कौन है, उनका जीवन परिचय क्या है?

  • Ram Nath Kovind (रामनाथ कोविंद)

    Ram Nath Kovind (रामनाथ कोविंद)

    रामनाथ कोविंद १४ वे राष्ट्पति, का जन्म 1 अक्टूबर 1945 गांव परिणख, देरपुर में हुआ जो अब कानपुर देहांत, उत्तर प्रदेश में स्थित है।

  • Lal Krishna Advani  (लाल कृष्ण अडवाणी )

    Lal Krishna Advani (लाल कृष्ण अडवाणी )

    लाल कृष्ण अडवाणी का जन्म ८ नवंबर १९२७ कराची (पाकिस्तान) के हिन्दू सिंधी परिवार में हुआ | Lal Krishna Advani is a senior BJP leader who served as the Minister of Home Affairs in the BJP-led National Democratic Alliance government from 1998 to 2004.

  • न्याय - पथ लीला सेठ (पूर्व  चीफ जस्टिस) Justice Leila Seth Passes Away

    न्याय - पथ लीला सेठ (पूर्व चीफ जस्टिस) Justice Leila Seth Passes Away

    Justice Leela Seth, the the first woman judge on the Delhi Court and the first woman to become Chief Justice of a State High Court breathed her last on May 5, 2017. भारत की पहली महिला चीफ जस्टिस रही लीला सेठ और लन्दन मे बार की परीक्षा १९५८ मे टॉप रहने तथा भारत के १५वे विधि आयोग की सदस्य बनने और कुछ चर्चित न्यायिक मामलो मे विशेष योगदान के कारण लीला सेठ का नाम विख्यात है |