राशन कार्ड से मिलने वाले लाभ

Monday, Nov 30, 2020 | Last Update : 12:41 PM IST

राशन कार्ड से मिलने वाले लाभ

डिजिटल राशन कार्ड के माध्यम से कालाबाजारी पर लगेगी लगाम।
Aug 6, 2018, 11:02 am ISTShould KnowAazad Staff
Ration Cards
  Ration Cards

डिजिटल राशन कार्ड - राशन कार्ड को बदल कर डिजिटल कर दिया गया है इसमें कई प्रकार के बदलाव किए गए है। नया राशन कार्ड अब एटीएम की तरह दिखेगा जिसमें एक छोटा सा चीप लगा हुआ है। इस राशन कार्ड में अब परिवार के मुखिया (पुरुष) का नाम हटा कर महिला (घर में जो बड़ी होंगी) का नाम जोड़ा जा रहा है। कहने का तत्यपर ये है कि राशन कार्ड पर अब पुरुष की जगह महिला का नाम सर्वपरी होगा। यह कार्ड आधार के साथ जुड़ा होगा।
डिजिटल राशन कार्ड को लाइफ टाइम के लिए बनाया गया है इसकी लिमिट खत्म नहीं होगी।  बता दें कि पहले हर पांच साल पर राशन कार्ड को रिन्यू करना पड़ता था। इस कार्ड में इसकी जरुरत नहीं होगी।

डिजिटल राशन से मिलने वाले लाभ - सरकार की इस नई टेक्नोलोजी से अब ग्राहक को उच्च मुल्य और साफ-सुथरा राशन दिया जाएगा। ग्राहक को पुराना राशन नहीं मिलेगा।

राशन कार्ड की दुकानों पर धोखाधडी को रोकने के लिए अब व्यकित को अंगूठा लगाने के बाद ही राशन मिलेगा। मतलब इस प्रक्रिया को पूरी तरह से बायोमेट्रिक कर दिया गया है, जिसमें दुकानदारों दवारा धोखाधडी का सवाल ही नहीं उठता।

यहाँ पढ़ें: राशन कार्ड के लिए आवेदन कैसे करें: वीडियो के साथ (Video)

यहाँ पढ़ें: एक देश एक राशन कार्ड, एक कार्ड अब हर राज्य में काम करेगा (Video)

सभी जिला आपूर्ति विभाग दवारा इस व्यवस्था पर पूरी देखरेख की जाएगी। सभी दुकानों के लिए बायोमेट्रिक मशीनें लगवाई जा रही हैं और इन्हे लगाने का काम तेजी से शुरू हो गया है। राशनकार्ड धारक का नंबर मशीन में फीड रहेगा जिससे अंगूठा लगाते ही पूरा विवरण सामने आ जाएगा। राशन कार्ड में जिन लोगों का नाम शामिल होगा उसकी भी जानकारी मशीन में फीड रहेगी। बता दें कि ये सुविधा नौ फरवरी से ही शुरु की जा चुकी है और अब तक कई लोग इस सुविधआ से जुड़ चुके है।

बीपीएल, नारंगी, नीला, पीला राशन कार्ड से मिलने वाले लाभ …..
नीले रंग के राशन कार्ड से लाभ -
यह राशन कार्ड उन्हे जारी किया जाता है जिनके पास एलपीजी या गैस कनेक्शन नहीं है, और उन्हें सब्सिडी वाले खाद्य उत्पादों के अलावा सब्सिडी वाले केरोसिन प्रदान करता है। विकलांग/ विधवा/ तलाक़शुदा/ 60 वर्ष से ज्यादा के वृद्ध जिनका कोई सहारा एवं आय का साधन न हो उनको यहकार्ड दिया जाता है।

बहरहाल सरकार के बदलते नियमों के आधार पर अब उज्जवला योजना की भी इसमें शामिल किया गया है। सरकार इस श्रेणी में आने वाले लोगों को मुफ्त में गैस सिलेंडर मुहैया कराती है।

बीपीएल कार्ड -
गरीबी रेखा से नीचे आने वाले लोगों को ये कार्ड दिया जाता है। जिन लोगों के पास अपनी जमीन नहीं होती है, सरकार  ुन लोगों को इस कार्ड के जरिए हर महीने 35 कीलो चावल 3 रूपये की दर से उपलब्ध कराया जाता है। चावल के साथ – साथ उपभोक्ता को गेहूं, चीनी, नमक, कैरोसिन का तेल भी मिलता है। इस कार्ड के जरिए उपभओक्ता को बैंक से कम ब्याज दर पर लोन की सुबिधा भी दी जाती है।

नारंगी राशन कार्ड -
यह कार्ड उन परिवारों को जारी किया जाता है जिनकी कुल वार्षिक आय गरीबी रेखा से ऊपर होती है। ग्रामीण इलाकों में, जिन परिवारों की कुल आय 6400 रुपये प्रति वर्ष से अधिक है और जो सब्सिडी वाले खाद्य उत्पादों तक लेना चाहते हैं, उन्हें कार्ड जारी किया जाता है।

पीला राशन कार्ड - इस रंग के राशनकार्ड से लाभुकों को कम कीमत पर जन वितरण दुकान से गेहूं व चावल मिलता है हालांकि इस कार्ड में बदलाव कर दिया गया है। अब ये राशन कार्ड राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के नाम पर लोगों को दिया जा रहा है। इस राशन कार्ड में लाभुक के परिवार में वरिष्ठ महिला का नाम परिवार की मुखिया के रूप में शामिल होगा।
इस राशन कार्ड से 14 किलो गेहूं व 21 किलो चावल सस्ते दर पर मिलती है।

...

Related stories

Featured Videos!