आपातकालीन प्रतिक्रिया के लिए अब तक का पहला इमर्जेंसी इन्क्यूबेशन ‘आईआईएचएमआर इमरजेंसी स्टार्टअप इनक्यूबेशन बूटकैंप 2021’ 54 राष्ट्रमंडल देशों में लॉन्च किया गया

Friday, Jun 18, 2021 | Last Update : 05:32 AM IST

आपातकालीन प्रतिक्रिया के लिए अब तक का पहला इमर्जेंसी इन्क्यूबेशन ‘आईआईएचएमआर इमरजेंसी स्टार्टअप इनक्यूबेशन बूटकैंप 2021’ 54 राष्ट्रमंडल देशों में लॉन्च किया गया

कोविड- 19 संकट के दौरान मानवता के सामने आने वाली सबसे कठिन समस्याओं का समाधान इनोवेटिव स्टार्टअप्स को बाजार और फंडिंग के लिए तैयार करने की दिशा में अल्ट्रा-फास्ट-ट्रैक इनक्यूबेशन प्रदान करने का प्रयास
May 28, 2021, 9:32 am ISTWorldAazad Staff
आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी
  आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी

आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी, जयपुर ने राजस्थान सरकार के विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग के समर्थन से देश का पहला आपातकालीन स्टार्टअप इनक्यूबेशन बूटकैंप लॉन्च किया है। ‘आईआईएचएमआर इमरजेंसी स्टार्टअप इनक्यूबेशन बूटकैंप 2021’ का उद्देश्य नए उद्यमियों को उचित मार्गनिर्देशन प्रदान करना है और इस दिशा में उन्हें सबसे प्रासंगिक सलाहकारों, भागीदारों, निवेशकों और अन्य हितधारकों के अंतरराष्ट्रीय नेटवर्क तक सीधे पहुंच की सुविधा उपलब्ध कराना है, ताकि वे खुद को बाजार में कायम रख सकें और आगे बढ़ सकें। ‘आईआईएचएमआर इमरजेंसी स्टार्टअप इनक्यूबेशन बूटकैंप 2021’ 1 जून से 7 जून तक चलेगा और इसके लिए आवेदन की अंतिम तिथि 28 मई, 2021 है। उद्यमी, इनोवेटर्स, विचारक, स्टार्टअप, इंट्राप्रेन्योर, छात्र, गैर सरकारी संगठन, विश्वविद्यालय, व्यावसायिक संगठन और कॉर्पोरेट घराने इसके लिए आवेदन कर सकते हैं। भाग लेने के लिए कोई शुल्क नहीं है क्योंकि इसे आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी ने पूरी तरह से प्रायोजित किया है। ‘आईआईएचएमआर इमरजेंसी स्टार्टअप इनक्यूबेशन बूटकैंप 2021’ एक अनूठी प्रक्रिया का पालन करेगा जिसमें अल्ट्रा-फास्ट-ट्रैक डायग्नोस्टिक पैनल, डीप-टच मेंटरिंग क्लीनिक और इनक्यूबेटिंग स्टार्टअप्स के लिए निवेशकों के साथ स्पीड डेटिंग शामिल है, और यह सब सिर्फ 7 दिनों की अवधि में होगा।

आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी के प्रेसीडेंट डॉ. पी आर सोडानी ने कहा, ‘‘कोविड -19 संकट के दौरान और उसके बाद जीवन को पटरी पर लाने के लिए, हम स्टार्टअप की प्रक्रिया में तेजी ला रहे हैं। इसी दिशा में हमने व्यावसायिक विचारों को चैनलाइज करने, नए और अनूठे साॅल्यूशन तैयार करने, व्यावसायिक योजनाओं को साकार करने की जरूरत को समझते हुए इमरजेंसी स्टार्टअप इनक्यूबेशन बूटकैंप के आयोजन का निर्णय किया है। सामाजिक बेहतरी के लिए प्रभाव पैदा करने के मामले में की गई इस पहल की सफलता के लिए इस आयोजन में छात्रों, स्टार्टअप्स और इनोवेटर्स की भागीदारी काफी महत्वपूर्ण है।’’ उन्होंने आगे कहा, ‘‘योग्य प्रतिभागियों के लिए, हम आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटीै के साथ ‘पीजी डिप्लोमा-हेल्थ एंटरप्रेन्योरशिप प्रोग्राम’ में पूरी तरह से प्रायोजित नामांकन की सुविधा देंगे।’’

इमरजेंसी स्टार्टअप इनक्यूबेशन बूटकैंप को कुछ सबसे अधिक प्रतिस्पर्धी स्टार्टअप्स को समर्थन और इनक्यूबेट करने के लिए डिजाइन किया गया है। ये ऐसे स्टार्टअप्स हैं, जो दुनिया भर में कोविड-19 संकट के दौरान मानवता के सामने उत्पन्न सबसे अधिक दबाव वाली समस्याओं को हल करने के लिए महत्वपूर्ण और जबरदस्त बदलाव लाने वाले इनोवेशन पेश कर रहे हैं। पचास सर्वश्रेष्ठ स्टार्टअप्स को ‘आइडिया-बुक’ में जगह दी जाएगी और उनके संबद्ध संगठनों/विश्वविद्यालयों/कंपनियों के लोगो को इसमें शामिल होने का मौका मिलेगा, जिसे सभी राष्ट्रमंडल देशों में उनके भारतीय दूतावासों के माध्यम से साझा किया जाएगा। विभिन्न क्षेत्रों और देश के विभिन्न हिस्सों से आने वाले विशेषज्ञ कार्यशाला का संचालन करेंगे।

आईआईएचएमआर इमरजेंसी स्टार्टअप इनक्यूबेशन बूटकैंप के दौरान कुछ विशिष्ट अतिथि होंगे- डॉ. रोजर गोपाल, एचसी- त्रिनिदाद और टोबैगो, श्रीमती मुग्धा सिन्हा, आईएएस, कला, साहित्य, संस्कृति और पुरातत्व, विज्ञान और प्रौद्योगिकी सचिव, राजस्थान सरकार, डॉ पी. आर. सोडानी, प्रेसीडेंट, आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी, डॉ आनंद के जोशी, सलाहकार, आईएसडीसी ग्लोबल-लंदन, श्री सुधीर नायर, एमडी सेल्स, सिस्को, बैंगलोर।

प्रोग्राम कोऑर्डिनेटर और हेड, आईआईएचएमआर बिजनेस इनक्यूबेशन डॉ. पल्लवी चैधरी अग्रवाल ने कहा, ‘‘आईआईएचएमआर इमरजेंसी स्टार्टअप इनक्यूबेशन बूटकैंप को आईआईएचएमआर इन्क्यूबेटर द्वारा लॉन्च किया गया है और इसका पूरा प्रबंधन भी वही संभाल रहा है। बूटकैंप के प्रमुख उद्देश्यों में शामिल हैं -इनोवेटिव स्टार्टअप्स को सपोर्ट देना, निवेशक नेटवर्क के साथ क्यूरेटेड सेशन तक पहुंच, उद्योग के दिग्गजों और डोमेन विशेषज्ञों से सीखना, स्टार्टअप मेंटर्स के साथ आमने-सामने की बातचीत, स्थापित उद्यमियों के अनुभवों से सीखना और राष्ट्रमंडल देशों के स्टार्टअप हितधारकों के साथ नेटवर्किंग बनाने का मौका उपलब्ध कराना। इनक्यूबेशन बूटकैंप का मुख्य उद्देश्य स्टार्टअप के संस्थापकों को सही लोगों से सही ज्ञान के साथ सही समय पर सही संसाधन प्राप्त करने और उत्पाद विकास में तेजी लाने के लिए सक्षम बनाना है। इस तरह वे न केवल खुद को बाजार में कायम रखने में कामयाब रहेंगे, बल्कि अपनी आमदनी में भी बढ़ोतरी कर सकेंगे और कोविड-19 से उपजे चुनौतीपूर्ण हालात के दौरान बड़े पैमाने पर समाज की सहायता कर सकेंगे। इनक्यूबेशन बूटकैंप जैसे आयोजनों से देश के टियर-टू और टियर-थ्री शहरों में इनोवेशन और एंटरप्रेन्योरशिप को एक प्लेटफाॅर्म पर लाने में भी कामयाबी मिलेगी।’’

‘आईआईएचएमआर इमरजेंसी स्टार्टअप इनक्यूबेशन बूटकैंप 2021’ की मुख्य विशेषताएं इस प्रकार हैं- ऽ श्रेष्ठ 2 स्टार्टअप को आईआईएचएमआर पीजी डिप्लोमा इन हेल्थ एंटरप्रेन्योरशिप प्रोग्राम (चयन और योग्यता के आधार पर) में पूरी तरह से प्रायोजित नामांकन प्राप्त होगा।

सर्वश्रेष्ठ 10 स्टार्टअप के पास आईआईएचएमआर इन्क्यूबेटर (यदि चयनित हो) द्वारा पूरी तरह प्रायोजित ‘आईआईएचएमआर इमरजेंसी स्टार्टअप इनक्यूबेशन बूटकैंप 2021’ तक पहुंच होगी।

सर्वश्रेष्ठ 20 स्टार्टअप के पास निवेशकों, उद्योग विशेषज्ञों, स्टार्टअप सलाहकारों और सरकारी विभागों के प्रतिनिधियों के साथ क्यूरेटेड सत्र तक पहुंच होगी।

आवेदन के लिए लिंक-
https://iihmr.edu.in/jaipur/iihmr-emergency-startup-incubation-bootcamp-2021.
बूटकैंप से संबंधित किसी भी जानकारी के लिए संपर्क करें- Dr. Pallavi Choudhary Agarwalla (pallavichoudhary@iihmr.edu.in +91-9166455489)

...

Featured Videos!