राजस्थान की जेजेटी यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर डॉ राजेंद्र निकुम्भ को आयुष मंत्रालय ने बनाया इंटरनेशनल योगा ईव्हॅल्युटर

Tuesday, Mar 02, 2021 | Last Update : 10:16 AM IST

राजस्थान की जेजेटी यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर डॉ राजेंद्र निकुम्भ को आयुष मंत्रालय ने बनाया इंटरनेशनल योगा ईव्हॅल्युटर

केंद्र सरकार के योग विभाग, आयुष मंत्रालय की ओर से, धुले के सुप्रसिद्ध योग प्रशिक्षक और जेजेटी विश्वविद्यालय के योग प्राध्यापक डॉ. राजेंद्र निकुंभ को अंतर्राष्ट्रीय योग पेशेवर प्रमाणपत्र स्तर दो से स्तर तीन यानी योग प्रशिक्षक और ईव्हॅल्युटर के रुप में पद्दोन्नत किया गया है।
Jan 20, 2021, 12:29 pm ISTNationAazad Staff
राजस्थान जेजेटी यूनिवर्सिटी
  राजस्थान जेजेटी यूनिवर्सिटी

19 जनवरी, 2021; जयपुर: इच्छाशक्ति जब बलवती हो तो कीर्तिमान पुरुषार्थ को स्वयं गले लगाता है। और ऐसा ही चरितार्थ किया जेजेटी विश्वविद्यालय के प्राध्यापक योगराज डॉ० राजेंद्र निकुंभ ने। केंद्र सरकार के योग विभाग, आयुष मंत्रालय की ओर से, धुले के सुप्रसिद्ध योग प्रशिक्षक और जेजेटी विश्वविद्यालय के योग प्राध्यापक डॉ. राजेंद्र निकुंभ को अंतर्राष्ट्रीय योग पेशेवर प्रमाणपत्र स्तर दो से स्तर तीन यानी योग प्रशिक्षक और ईव्हॅल्युटर के रुप में पद्दोन्नत किया गया है। पूरे भारत के अठारह लोग ही हैं जिन्होंने "निगरानी परीक्षा" पास की है उनको आंतरराष्ट्रीय योग व्यवसायिक स्तर दो से स्तर तीन मे पदोन्नती दे दी गयी हैं.

इसके साथ ही, एशिया के सबसे बड़े और प्रसिद्ध बनारस हिंदू विश्वविद्यालय, वाराणसी, आयुर्वेद और योग विभाग, चिकित्सा विज्ञान संस्थान द्वारा विगत दिनों भारत रत्न पं. मदन मोहन मालवीय की 159 वीं जन्म शताब्दी के अवसर पर राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित योग प्रतियोगिता में भी डॉ. निकुंभ को प्रथम पुरस्कार मिला है. इस बीच, राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित "वर्चुअल एजुकेशन तथा "स्लोगन प्रतियोगिता" में भी डॉ.निकुंभ प्रथम पुरस्कार के हकदार बने।

उल्लेखनीय है कि इन सभी प्रतियोगिताओं को राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित किया गया था और पूरे भारत के पांच हजार से अधिक लोग इनमें प्रतिभागी बने थे।

आयुष् विभाग, भारत सरकार के द्वारा योगा सर्टीफिकेशन बोर्ड की स्थापना की गयी है.ईस योगा प्रामाणिकरण बोर्ड द्वारा भारत सरकार अंतरराष्ट्रीय योगा प्रोफेशनल को प्रत्यायन अर्थात मान्यता तथा प्रमाणित करते हैं। डॉ. निकुंभ को इस प्रत्यायन तथा प्रमाणिकरण परीक्षा के लिये आयुष् विभाग द्वार परीक्षक के रुप मे भी नियुक्त किया गया हैं।

इस यश प्राप्ती के लिये जेजेटी विश्वविद्यालय के चेयरपर्सन डॉ. विनोद टिबड़ेवाला, प्रो-चेयरपर्सन डॉ० (ब्रिगेडियर) सुरजीत सिंह पाबला, प्रेसीडेंट डॉ० (कर्नल) नागराज मंथा, प्रो प्रेसीडेंट डॉ० (कोमोडोर) जवाहर जाँगीर, प्रो प्रेसीडेंट डॉ० अनुराग, सीईओ डॉ० चरनजीत कौर पाबला, योगऋषि स्वामी रामदेव, आयुर्वेद शिरोमणि आचार्य बालकृष्ण, सांसद डॉ० सुभाष भामरे, विधायक डॉ० फारूक शेख, पतंजलि के अंतरराष्ट्रीय समन्वयक जयदीप आर्य और योग और विभिन्न क्षेत्रों के कई गणमान्य लोगों ने डॉ. निकुंभ को उनके सम्मानित उपलब्धि के लिए बधाई दी है।

डॉ० राजेंद्र निकुंभडॉ० राजेंद्र निकुंभ

...

Featured Videos!