नेशनल एचआरडी नेटवर्क के जयपुर चैप्टर की वार्षिक आम बैठक का आयोजन, हॉस्पिटैलिटी, एजुकेशन और कंसल्टेंसी से जुड़े अनेक विशेषज्ञ हुए शामिल

Tuesday, Oct 19, 2021 | Last Update : 01:27 PM IST


नेशनल एचआरडी नेटवर्क के जयपुर चैप्टर की वार्षिक आम बैठक का आयोजन, हॉस्पिटैलिटी, एजुकेशन और कंसल्टेंसी से जुड़े अनेक विशेषज्ञ हुए शामिल

नेशनल एचआरडी नेटवर्क की इस आम बैठक में हॉस्पिटैलिटी, एजुकेशन और कंसल्टेंसी से जुड़े सरकारी और निजी उद्यमी और विशेषज्ञ शामिल हुए।
Aug 18, 2021, 11:04 am ISTNationAazad Staff

नेशनल एचआरडी नेटवर्क के जयपुर चैप्टर की वार्षिक आम बैठक का आयोजन जयपुर में किया गया। कोविड-19 महामारी के कारण यह बैठक लंबे अंतराल के बाद आयोजित की जा सकी। नेशनल एचआरडी नेटवर्क की इस आम बैठक में हॉस्पिटैलिटी, एजुकेशन और कंसल्टेंसी से जुड़े सरकारी और निजी उद्यमी और विशेषज्ञ शामिल हुए। क्लार्क्स आमेर ग्रुप के हैड और एनएचआरडी जयपुर चैप्टर के प्रेसीडेंट श्री अपूर्व कुमार ने बैठक की अध्यक्षता की और एनएचआरडी के भविष्य के एजेंडे को प्रस्तुत किया। डॉ. अशोक बापना ने स्वागत भाषण दिया और पूरी चर्चा का संचालन किया। फोरम ने पिछली बैठक की कार्यवाही की पुष्टि करने का भी आह्वान किया। इस दौरान एनएचआरडी जयपुर चैप्टर की लेखा रिपोर्ट भी प्रस्तुत की गई और कार्यकारिणी का चुनाव भी कराया गया।

इस अवसर पर क्लार्क्स आमेर ग्रुप के हैड और एनएचआरडी जयपुर चैप्टर के अध्यक्ष श्री अपूर्व कुमार ने कहा, ‘‘पर्यटन जयपुर के लिए मेरूदंड के समान है। फिर भी ऐसे कई पहलू हैं जिन पर हमें राज्य में काम करने की जरूरत है। सबसे बड़ी जरूरत इस बात की है कि हम सरकार के साथ सहयोग करते हुए आगे बढ़ने की योजना बनाएं और इस दिशा में फेडरेशन ऑफ हॉस्पिटैलिटी एंड टूरिज्म को भी साथ लें। साथ ही, और उन सभी लोगों सर्टिफिकेट प्रदान करें, जो पर्यटकों के संपर्क में आते हैं। इससे राज्य के लिए अनेक ब्रांड एंबेसडर तैयार करने का रास्ता प्रशस्त होगा।’’

उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि व्यक्तिगत सेवाएं प्रदान करके और जागरूकता पैदा करते हुए हवाई अड्डे के सामान्य कर्मचारियों के लिए एक नया मॉड्यूल बनाया और डिजाइन किया जाना चाहिए।

एनएचआरडी के दिल्ली चैप्टर के अध्यक्ष श्री प्रेम सिंह ने इस महत्वपूर्ण बैठक का हिस्सा बनाने के लिए आभार व्यक्त किया और कहा, ‘‘मानव संसाधन से संबंधित पेशे और एनएचआरडी नेटवर्क के संबंध में योगदान करने के कई अवसर उपलब्ध हैं। जयपुर शहर एक उभरता हुआ शहर है, जिसके पास वाणिज्यिक केंद्र हैं और यहां विकास क्षेत्र में निवेश के लिए भारी अवसर हैं। यह उन प्रतिभाओं को अपार अवसर प्रदान करता है, जो विकास की दिशा मंे योगदान दे सकती हैं। ऐसे प्रतिभाशाली लोगों को एनएचआरडी और अन्य संस्थानों की ओर से भरपूर समर्थन मिलना चाहिए। यह आदर्श रूप से उनके कार्य क्षेत्रों में योगदान और प्रभाव डालने में मदद करता है। हमने उत्तरी क्षेत्र में इन युवाओं के कार्यों और उत्कृष्टता को पहचानने के लिए एक ईको सिस्टम विकसित किया है।’’

जयपुरिया इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट के डायरेक्टर डॉ. प्रभात पंकज, जिन्हें नेशनल एचआरडी नेटवर्क के जयपुर चैप्टर का वाइस प्रेसीडेंट नियुक्त किया गया है, उन्होंने एचआरसीएस रिपोर्ट से संबंधित एजेंडा का जिक्र किया और कामकाज के तरीकों को आसान बनाने का आग्रह किया। उन्होंने कहा, ‘‘हमें चीजांे और कारोबार को और सरल बनाने की तरफ ध्यान देना चाहिए, ताकि जटिलता और अस्पष्टता की कोई गुंजाइश न हो। आप जो हासिल करना चाहते हैं, पूरी तरह उस पर अपना ध्यान केंद्रित करें। साथ ही, हमें लोगों की क्षमताओं को और ऊंचाई पर पहुंचाने पर ध्यान देना होगा, ताकि कंपनिया मानव क्षमता का बेहतर इस्तेमाल कर सकें।’’ उन्होंने आगे कहा, ‘‘आज सहयोग का युग है, न कि अलगाव का, जहां संस्थानों को एक-दूसरे को तालमेल के साथ देखना चाहिए न कि प्रतिकूलता के रूप में। हमें तीन चीजों का समर्थन करना चाहिए - विविधता, इक्विटी और समावेशिता। राष्ट्रीय शिक्षा नीति इस दिशा में एक महत्वपूर्ण उदाहरण है, जिसमें देश की शिक्षा प्रणाली में व्यापक बदलाव लाने की कोशिश की गई है। साथ ही, ट्रेनिंग के जरिये शिक्षक सशक्तिकरण, छात्रों की तुलना में शिक्षकों की तकनीकी निपुणता और छात्रों के मूल्यांकन के तरीकों को बदलने का प्रयास भी किया जाना चाहिए और इसमें माता-पिता की समानांतर भागीदारी को भी सुनिश्चित किया जाना चाहिए।’’

एनएचआरडी, जयपुर चैप्टर की सचिव डॉ. सुरभि पुरोहित ने पिछली बैठकों में आयोजित गतिविधियों का विवरण दिया और इनमें चर्चा किए गए प्रमुख बिंदुओं के बारे में जानकारी दी।

आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी के रजिस्ट्रार श्री हेम कुमार भार्गव ने भी इस बैठक में हिस्सा लिया। उन्हें एनएचआरडी जयपुर चैप्टर के ट्रेजरार के रूप में नियुक्त किया गया और लेखा रिपोर्टों की पुष्टि की गई।

फोरम में भाग लेने वाले विशेषज्ञों में शामिल हैं- डॉ अशोक बापना, प्रख्यात शिक्षाविद, जिन्हें अब एनएचआरडी जयपुर चैप्टर के प्रेसीडेंट के रूप में नियुक्त किया गया है, श्री पंकज प्रभात, डायरेक्टर, जयपुरिया इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट, जिन्हें एनएचआरडी जयपुर चैप्टर का वाइस प्रेसीडेंट नियुक्त किया गया है, श्री सुधीर उपाध्याय, डायरेक्टर सीयूएलपी को अब एनएचआरडी जयपुर चैप्टर के ज्वाइंट सेक्रेट्री के रूप में नियुक्त किया गया है। डॉ. सुरेशचंद्र पाढ़ी, प्रेसीडेंट, पूर्णिमा यूनिवर्सिटी को अब एनएचआरडी जयपुर चैप्टर का सेक्रेट्री नियुक्त किया गया है। एनएचआरडी जयपुर चैप्टर के कार्यकारी सदस्य इस प्रकार हैं- श्री नीरव बंसल, डायरेक्टर, फोर्टिस हॉस्पिटल, सुश्री गीतिका मयंक, डायरेक्टर, आईआईएलएम, डॉ सुरभि पुरोहित, प्रख्यात शिक्षाविद, प्रो. राव, प्रख्यात शिक्षाविद-मणिपाल इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट और श्री अनिरुद्ध बी, सीनियर मैनेजर, अफले।

क्लॉज 15(पप) के तहत नियुक्त न्यासी इस प्रकार हैं- डॉ. पंकज प्रभात, डायरेक्टर, जयपुरिया इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट, डॉ. अशोक बापना, प्रख्यात शिक्षाविद, श्री मनोज गुप्ता, प्रो-प्रेसिडेंट पूर्णिमा यूनिवर्सिटी और श्री हेम कुमार भार्गव, रजिस्ट्रार, आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी।

...

Featured Videos!