आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी, जयपुर ने श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय के साथ समझौता ज्ञापन (एमओयू) किया

Friday, Apr 23, 2021 | Last Update : 02:45 AM IST

आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी, जयपुर ने श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय के साथ समझौता ज्ञापन (एमओयू) किया

राष्ट्रीय शिक्षा नीति एवं भारत सरकार भी कौशल शिक्षा और स्किल्स् को पाठ्यक्रम में शामिल करने को बढ़ावा दे रही है, यह समझौता ज्ञापन आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी के लिए एक मील का पत्थर है।
Mar 6, 2021, 2:41 pm ISTNationAazad Staff
आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी
  आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी

आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी, जयपुर  श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय के साथ समझौता ज्ञापन किया। एमओयू का उद्देश्य सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रबंधन कार्यक्रमों में कौशल विकास के लिए एसवीएसयू और आईआईएचएमआर विश्वविद्यालय के बीच आपसी सहयोग को बढ़ावा देना है और प्रबंधन और कौशल विकास के क्षेत्रों में विनिमय और सहयोग के कार्यक्रमों के लिए एक रूपरेखा स्थापित करना है।

डाॅ. पी. आर. सोडानी, प्रेसिडेंट, आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी, ने कहा कि, कौषल हमेशा एक अपरीचित हिस्सा रहा है। राष्ट्रीय शिक्षा नीति एवं भारत सरकार भी कौशल शिक्षा और स्किल्स् को पाठ्यक्रम में शामिल करने को बढ़ावा दे रही है, यह समझौता ज्ञापन आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी के लिए एक मील का पत्थर है। यूनिवर्सिटी ने हमेशा अनुभावात्मक अध्ययन को बढ़ावा दिया है जो हमारे छात्रों को उद्योग आधारित शिक्षा और हस्तक्षेप क माध्यम से अनुभव प्राप्त करने की अनुमति देता हैजो संगठनों के लिए लाभकारी उत्पादन उत्पन्न करते हैं।

सहयोग के प्रमुख क्षेत्रों में संयुक्त एमडीपी, कौशल विकास, उद्यमशीलता कौशल का विकास, स्टार्ट-अप को बढ़ावा देना, सम्मेलन/संगोष्ठी/कार्यशाला/प्रशिक्षण/संगोष्ठी/लघु अवधि पाठ्यक्रम का संयुक्त आयोजन, उद्योग विनिमय कार्यक्रम, ज्ञान संसाधन का आदान-प्रदान शामिल हैं। संकाय संसाधन का आदान-प्रदान।
श्री राज नेहरू, वाइस-चांस्लर, श्री विश्वकर्मा स्किल यूनिवर्सिटी ने कहा कि, व्यवसायिक एवं कौशल प्रशिक्षण हमेशा से देश में संपन्न होते रहे हैं तथा सरकार द्वारा भी इन्हें बढ़ावा दिया जाता रहा है। इस अवसर पर हमने आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी, जयपुर के साथ हाथ मिलाया है, जो पब्लिक हैल्थ के क्षेत्र में 35 वर्षों से अपनी विरासत चला रहा है। हम इस संबंध के लिए तत्पर हैं।

डाॅ. शिव के. त्रिपाठी, प्रोफेसर, डीन ट्रेनिंग, आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी, ने कहा कि, हम इस एमओयू से अत्यन्त खुश हैं क्योंकि हम स्वास्थ्य के दायरे में खुद को आगे बढ़ा सकते हैं। आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी और श्री विश्वकर्मा स्किल यूनिवर्सिटी के बीच यह गठजोड़ हमें स्वास्थ्य सेवा में प्रशिक्षित करने की अनुमति देता है जिसकी देश में बहुत आवश्यकता है। आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी सरकारी एवं गैर सरकारी संगठनों दोनों के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित करता रहा है और यह समझौता ज्ञापन हमारी श्रेष्ठता में एक और पंख जोड़ देगा।

जयपुर में स्थित आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी, राजस्थान राज्य के अधिनियम 3 के तहत स्थापित किया गया है, (बाद में आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी के रूप में संदर्भित किया जाता है। आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी स्वास्थ्य क्षेत्र में प्रबंधन अनुसंधान, स्नातकोत्तर शिक्षा और प्रशिक्षण में एक विशेष शोध यूनिवर्सिटी है। प्रभावी नीतियों और स्वास्थ्य हस्तक्षेपों और रणनीतियों को विकसित करने के लिए सबूत और इनपुट प्रदान करने के लिए नए ज्ञान और प्रौद्योगिकियां।
रजिस्ट्रार प्रो (डॉ) आर.एस. राठौर, डीन- मैनेजमेंट प्रो। ज्योति राणा, डीन मानवता प्रो। ऋषि पाल एंड इंडस्ट्री इंटीग्रेशन डिपार्टमेंट टीम का नेतृत्व मिस्टर हेमंत पुरोहित, डॉ। वैशाली माहेश्वरी, यूनिवर्सिटी रोल से सुश्री अर्चना ठकरन समारोह में उपस्थित थे।

...

Featured Videos!