पैरों से पहचाने बीमारियां

Sunday, Aug 09, 2020 | Last Update : 05:19 AM IST

follow us on google news

पैरों से पहचाने बीमारियां

पैरों के पंजो पर अगर सूजन हो तो ये एनीमिया और किडनी डिजीज का संकेट हो सकती है। इसमें एक या दोनों पैरों के पंजों में सूजन आ सकती है। ऐसे लक्षण अगर दिखें तो डॉक्टर की सलाह तुरंत ले।
May 2, 2019, 1:05 pm ISTLifestyleAazad Staff
Foot Disease
  Foot Disease

शरीर पंचतत्व से मिलकर बना है हमारे शरीर का हर अंग अहम माना जाता है। कोई भी बीमारी होने से पहले शरीर के अंग ही हमें संकेत देने लगते हैं कि आखिर कौन से हिस्से में समस्या है। हालांकि लोग इसे देखकर भी अनदेखा करते हैं और यही लापरवाही आगे चलकर सेहत संबंधी कई बड़ी बीमारियों को न्यौता देती हैं। आज हम इस लेख में शरीर के एक ऐसे अंग के बारे में बात करने जा रहे है जिसे देख कर आप पता लगा सकते है कि आप किस प्रकार की बीमारी से ग्रसित है।  शरीर का वो हिस्सा जो आने वाली हर बीमारी का संकेत देते हैं उनमें से एक हैं हमारे पैर जो पैर हमारे सेहत के बारे में बहुत कुछ बताते हैं। इसे शरीर का मुख्य सिग्नल पाइंट कहा जाता है इसलिए पैरों में होने वाले बदलाव को ध्यान से देखें क्योंकि यह किसी बीमारी का संकेत हो सकते हैं। यह बीमारियां शुगर,थाइराइड या फिर दिल की बीमारी हो सकती है।

अगर आपके पैर या शरीर के अन्य अंगों पर किसी चोट का जख्म है और वह ठीक नहीं हो पा रहा है तो यह डायबिटीज यानि शुगर के लक्षण हो सकते हैं क्योंकि खून में शुगर ज्यादा होने की वजह से यह आपकी रक्त वाहनियों को क्षति पहुंचाता है, जिसकी वजह से शरीर में खून का प्रवाह सही ढंग से नहीं हो पाता है खासतौर पर पैरों में।

अगर पैर के अंगूठे में दर्द की शिकायत रहती है तो ये प्युरीन की मात्रा बढ़ जाने के कारण होता है। प्युरीन एक कैमीकल मिश्रण है जो कि लाल मांस, मछली और कुछ प्रकार के एल्कोहल में पाया जाता है। प्युरीन की ज्यादा मात्रा होने से यह यूरिक एसिड को बढ़ा देता है और पेशाब ज्यादा लगता है। ऐसे में एक अच्छे डाइटीशियन से सही आहार के बारे में सलाह लें।

आम तौर पर पैरों की ऐंठन मसाज करने से, स्ट्रेचिंग आदि से चली जाती है, अगर ये खराब ब्लड सर्कुलेशन या शरीर में किसी भी जरूरी लिक्विड की कमी से हो रहा है तो ये समस्या ज्यादा बढ़ी हुई है और उस समय शरीर की कमी को पूरा करना जरूरी हो जाएगा।

कुछ लोगों के पैरों की स्किन लगातार फटी दिखती है ऐड़ियों से खून रिसता है और किसी तरह की कोई भी दवा इनपर असर नहीं करता है। ये समस्या है हाइपरकेराटोसिस (hyperkeratosis)। बढ़ती उम्र के लोगों को इससे ज्यादा समस्या रहता है।

पैरों से बदबू आना एक प्रकार का इन्फेक्शन हो सकता है जो किसी भी बड़ी समस्या को न्योता दे सकता है। पैर के नाखून का सामान्य से अलग रंग का दिखना एक बड़ी समस्या को चुनौती दे सकता है। इतना ही नहीं अगर पैरों के नाखून में दर्द हो, या नाखून मोटे हो गए हैं या फिर उसका रंग बदल रहा है तो तरंत डॉक्टर को दिखा कर सलाह ले। ये लक्षण कैंसर जैसी एक बड़ी बीमारी का संकेत हो सकते है।

पैर के अंगूठे के नाखूनों पर लाल धारियां दिखाई दे तो ये हार्ट इन्फ़ैकशन का संकेत हो सकता है। यह तब होता है जब रक्त वाहनियां टूट जाती हैं। यह स्थिति स्प्लिंटर हेमोर्हेज्स कहलाती है जो लोग केमोथैरेपी ले रहे हैं और एच.आई.वी. या डाइबिटीज़ के मरीज में खास तौर पर यह लक्षण दिखाई देता है। जब भी इस तरह का लक्षण दिखाई दें तो तुरंत अपने डॉक्टर से सलाह लें।

जब पैरों की अंगुलियों में क्लबिंग (अंगुलियों का आगे से चौड़ा और मोटा होना) दिखाई दे तो यह ‘फेफड़ों के कैंसर' का लक्षण हो सकता है। इसके अलावा क्लबिंग फेफड़ों में संक्रमण, दिल की बीमारी और आंत की बीमारी का भी लक्षण हो सकता है। इस तरह के लक्षण दिखे तो डॉक्टर की सलाह जरुर लें।

...

Featured Videos!