Sushma Swaraj

Monday, Sep 28, 2020 | Last Update : 12:09 PM IST

Sushma Swaraj (सुषमा स्वराज)

सुषमा स्वराज का जन्म १४ फरवरी १९५२ को हरियाणा के अम्बाला कैंट में हुआ उनके पिता का नाम हरिवी शर्मा और उनकी माता का नाम लक्ष्मी देवी था | Sushma Swaraj is a senior Indian politician belonging to the BJP.
May 29, 2017, 3:07 pm ISTIndiansSarita Pant
Sushma Swaraj
  Sushma Swaraj

सुषमा जी के पिता एक प्रमुख राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सदस्य थे,उनके माता पिता लाहौर पाकिस्तान से थे, सुषमा जी अम्बाला छावनी में सनातन धर्म कॉलेज में पढ़ी थी, उन्होने संस्कृत और राजनैतिक विज्ञानं में बड़ी उपाधि प्राप्त की उसके बाद उन्होंने पंजाब विश्वविद्यलय चंडीगढ़ से कानून का अध्ययन किया | सुषमा जी ने हरियाणा की भाषा विभाग से राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में  लगातार तीन वर्षों तक सर्वश्रेष्ठ हिंदी अध्यक्ष का पुरस्कार भी  जीता।

सुषमा जी ने 1973 में भारत के सर्वोच्च न्यायालय में एक वकील के रूप में भी अभ्यास शुरू किया| सुषमा स्वराज ने सन 1970 के दशक में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के साथ अपना राजनीतिक जीवन भी  शुरू किया।

सुषमा जी एक भारतीय राजनीतिज्ञ ओर सर्वोच्च न्यायालय की  पूर्व वकील और भारत के विदेश मंत्री के  रूप में  26 मई 2014 से कार्यालय में हैं। 26 मई 2014 को वह केंद्रीय मंत्रिमंडल में विदेश मंत्री बनी । भारतीय मूल के एक नेता जनता पार्टी, स्वराज दूसरी महिला है, जो भारत के विदेश मंत्री हैं, इंदिरा गांधी के बाद।

वह संसद के सदस्य के रूप में सात बार और विधान सभा के सदस्य के रूप में तीन बार चुनी गयी । सुषमा जी  25 साल की उम्र से उत्तर भारतीय राज्य हरियाणा के कैबिनेट मंत्री  भी बनी  ओर 1998 में उन्होंने एक संक्षिप्त अवधि के लिए दिल्ली के 5 वें मुख्यमंत्री भी बनायीं गयी |

उनके पति स्वराज, समाजवादी नेता जॉर्ज फर्नांडीस के साथ  बहुत ही निकटता से जुड़े हुए  थे, 1975 में सुषमा स्वराज जॉर्ज फर्नांडीस की कानूनी रक्षा टीम का हिस्सा बन गयी थी । उन्होंने जयप्रकाश नारायण की कुल क्रांति आंदोलन में सक्रिय रूप से भाग लिया और आपातकाल के बाद, वह भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुई बाद में सुषमा जी  भाजपा के तरफ से राष्ट्रीय नेता भी बनी ।

सुषमा जी 12 जुलाई 1977 के बाद मुख्यमंत्री देवी लाल की अध्यक्षता में भारतीय जनता पार्टी सरकार में कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली । वह सन 1979 में 27 वर्ष की उम्र में जनता पार्टी की  राज्य अध्यक्ष बनी । स्वराज  सन 1987 से 1990 की अवधि के दौरान भारतीय जनता पार्टी-लोक दल गठबंधन सरकार में हरियाणा राज्य की शिक्षा मंत्री भी बनी |

स्वराज राष्ट्रीय स्तर की राजनीति में एक कार्यकाल के बाद, अक्टूबर 1998 में उन्होंने केंद्रीय मंत्रिमंडल से दिल्ली की पहली महिला मुख्यमंत्री  के रूप में पदभार संभाला जबकि  बढ़ती कीमतों और मुद्रास्फीति की वजह से भाजपा विधानसभा में वह चुनाव हार गई थी। उन्होंने अपनी विधानसभा सीट  से इस्तीफा दे दिया और राष्ट्रीय राजनीति में लौट गयी ।

सन  1996 के चुनावों के दौरान वह  दक्षिण दिल्ली के निर्वाचन क्षेत्र से 11 वीं लोकसभा के लिए चुने गयी । वह 1996 में प्रधान मंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की 13 दिवसीय सरकार के दौरान सूचना और प्रसारण मंत्री के केंद्रीय कैबिनेट मंत्री भी बनी थी ।

स्वराज कौशल से सुषमाजी का विवाह आपातकाल के समय, 13 जुलाई 1973 को हुआ, आपातकाल आंदोलनके समय इस  जोड़ी को एक साथ लाया, तब रक्षा के लिए दोनों ने मिलकर काम किया |  समाजवादी नेता जॉर्ज फर्नांडीस स्वराज अब भारत के सर्वोच्च न्यायालय के वरिष्ठ अधिवक्ता हैं और एक आपराधिक वकील भी हैं जिन्होंने 1990 से 1993 तक मिजोरम के राज्यपाल के रूप में कार्य किया था। वह 1998 से 2004 तक संसद के सदस्य भी थे।

सुषमा जी एक बेटी  बांसुरी है, जो ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय से स्नातक हैं और इनर टेंपल से कानून में बैरिस्टर हैं। सुषमा स्वराज की बहन वंदना शर्मा हरियाणा में सरकारी कोलाज  में राजनीतिक विज्ञान के एक सहयोगी प्रोफेसर हैं। सुषमा स्वराज के भाई डॉ। गुलशन शर्मा अंबाला में स्थित आयुर्वेद के एक डॉक्टर हैं |  

10 दिसंबर को हाल में ही सुषमा जी को  एम्स में एक गुर्दा प्रत्यारोपण के लिए लिया गया था, जिसके साथ एक जीवित असंबंधित दाता का अंग निकाला गया था। सर्जरी पूर्ण रूप से सफल रही |

सुषमा जी  सत्तारूढ़ दल की  सदस्य और विपक्षी दलों के रूप में दोनों प्रमुख पदों पर भी रहीं। सुषमा जी ऐसी कई युवा महिलाओं के लिए एक आदर्श है, जो भारतीय राजनीति के पथ को आगे बढ़ाती हैं। सुषमा स्वराज भारतीय राजनीतिज्ञ और भारतीय जनता पार्टी की  सदस्य हैं।

सुषमा स्वराज द्वारा संभाले गए पद |

1 977-82, हरियाणा विधान सभा ,
1 977-79 कैबिनेट मंत्री, श्रम और रोजगार, हरियाणा सरकार,
1987-90, हरियाणा विधान सभा के सदस्य के रूप में चुने गयी,
1987-90 कैबिनेट मंत्री, शिक्षा, खाद्य और नागरिक आपूर्ति, हरियाणा सरकार,
1990-96 राज्यसभा के लिए ,
1996-97 [15 मई 1996 - 4दिसंबर 1 997] सदस्य, ग्यारहवीं लोकसभा,
1 99 6 [16 मई -1 जून] - केन्द्रीय कैबिनेट मंत्री सूचना और प्रसारण,
1998-99 [10 मार्च 1 99 8 - 26 अप्रैल 1999] सदस्य, बारहवीं लोकसभा,
1 99 8 [1 9 मार्च - 12 अक्टूबर] केंद्रीय कैबिनेट मंत्री, सूचना और प्रसारण और दूरसंचार (अतिरिक्त शुल्क),
1 99 8 [13 अक्टूबर से 3 दिसंबर] दिल्ली की मुख्यमंत्री ,
1998 [नवंबर] - दिल्ली विधानसभा के हौज खास विधानसभा क्षेत्र से चुने गए,
2000-06 सदस्य, राज्य सभा (4 वें पद),
2000-03 [30 सितंबर 2000 - 2 9 जनवरी 2003] सूचना और प्रसारण मंत्री,
2003-04 [2 9 जनवरी 2003 - 22 मई 2004] स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री और संसदीय कार्य मंत्री,
2006-09 [अप्रैल 2006 -] सदस्य, राज्य सभा (5 वें पद),
2009-14 [16 मई 200 9 -18 मई 2014] सदस्य, 15 वीं लोकसभा (6 वें पद),
2009-09 [3 जून 200 9 - 21 दिसंबर 200 9] लोकसभा में विपक्ष के उप नेता,
2009-14 [21 दिसंबर 2009 - 18 मई 2014] विपक्ष के नेता और लालकृष्ण आडवाणी की जगह,
2014 से वर्तमान [26 मई 2014-] सदस्य, 16 वीं लोकसभा (7 वें पद),
2014-वर्तमान [26 मई 2014-] भारत के संघ में विदेश मंत्री|

...

Featured Videos!