Chaitra Navratri 2019: नवरात्रि के नौ दिन मां दुर्गा के नौ रुपों को लगाएं ये भोग, मिलेगी विशेष कृपा

Tuesday, Mar 02, 2021 | Last Update : 10:27 AM IST

Chaitra Navratri 2019: नवरात्रि के नौ दिन मां दुर्गा के नौ रुपों को लगाएं ये भोग, मिलेगी विशेष कृपा

नवरात्र में मां दुर्गा के नौ रुपों की विधि-विधान से पूजा अर्चना की जाती है।इसके साथ ही मां दुर्गा के नौ रुपों को ९ दिन अलग अलग भोग भी लगाए जाते है। ऐसी मान्यता है कि मां दूर्गा इससे प्रसन्न होकर धन-संपत्ति में वृद्धि के साथ-साध बुद्धिवान बनाएंगी।
Apr 5, 2019, 2:35 pm ISTFestivalsAazad Staff
Maa Durga
  Maa Durga

हिंदू धर्म में नवरात्र का बहुत अधिक महत्व है। इस बार ६ अप्रैल, शनिवार से चैत्र नवरात्र प्रारंभ हो रहे है। इस दौरान मां दुर्गा के नौ रुपों की विधि-विधान से पूजा की जाती है। इन नौ दिनों में मां दुर्गा  के नौ स्वरूपों को उनका पसंदीदा भोग चढ़ाकर मां का आशीर्वाद भी पाया जा सकता है। तो आइए जानें, नौ तिथि और नौ देवियों को किस दिन क्या भोग चढ़ाएं।

१. नवरात्रि के पहले दिन मां शैलपुत्री की पूजा की जाती है। इस दिन मां शैलपुत्री को देशी घी या देशी घी से बने व्यंजनों का भोग लगाना बेहद शुभ माना जाता है। क्योंकि देशी घी या घी में बने प्रसाद का भोग लगाने से शरीर रोग मुक्त बनता है अर्थात् आरोग्य की प्राप्ति होती है।

२. नवरात्रि के दूसरे दिन मां ब्रहमचारिणी का पूजन किया जाता है। इस दिन मां को सफेद रंग के मीठे का भोग लगाया जाता है। आप चीनी के अलावा दूध से बने व्यंजनों का भी भोग लगा सकते है। ऐसा करने से आयु में वृद्धि होती है।

३. नवरात्रि के  तीसरे दिन मां चंद्रघंटा की पूजा की जाती है। इस दिन मां  को दूध और उससे बनी चीजों का भोग लगाएं और और इसी का दान भी करें। ऐसा करने से मां खुश होती हैं और सभी दुखों का नाश करती हैं।

४. नवरात्रि के चौथे दिन मां कुष्मांडा की पूजा की जाती है। इस दिन मां को मालपुए का भोग लगाना शुभ माना जाता है।  इसके साथ ही प्रसाद को किसी ब्राह्मण को दान शुभ माना गया है। इस दिन बने प्रसाद का सेवन करने से बुद्धि का विकास होने के साथ-साथ निर्णय क्षमता भी अच्छी होती है।

५. नवरात्रि के पांचवे दिन मां स्कंदमाता यानि भगवान कार्तिकेय की मां के स्वरूप की अराधना की जाती है। ऐसे में पूजा के बाद केले का भोग लगाने से बुद्धि के विकास में मदद मिलती है।

६. नवरात्रि के छठे दिन मां कात्यायनी का पूजन किया जाता है। इस दिन माता कात्यायनी को शहद का भोग लगाने से खूबसूरती में इजाफा यानि सौंदर्य की प्राप्ति होती है।

७. नवरात्रि के सातवें दिन मां कालरात्रि के स्वरूप की पूजा की जाती है। इस दिन मां कालरात्रि को गुड़ या गुड़ से बने पकवानों का भोग लगाना शुभ माना गया है। ऐसा माना गया है कि इस दिन गुड़ या गुड़ से बने पकवानों का भोग लगाने से  शोक-संताप और तनाव से मुक्ति मिलती है।

८ . नवरात्रि के आठवें दिन  मां महागौरी की अराधना की जाती है। इस दिन मां को नारियल का भोग लगाया जाना शुभ माना गया है।

९. नवरात्रि के नौवे दिन मां सिद्धिदात्री की पूजा होती है। इस दिन मां को विभिन्न प्रकार के अनाजों का भोग लगाया जाता है। जैसे- हलवा, चना-पूरी, खीर और पुए। इस दिन प्रसाद को  गरीबों में बाटना लाभदायक माना गया है। ऐसी मान्यता है कि इस दिन दान करेने से जीवन में हर सुख-शांति मिलती है।

...

Featured Videos!