आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी ने काॅर्पोरेट सोशल रिस्पाॅन्सिबिलिटी एंड सस्टेनेबल डेवलपमेंट में पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा प्रोग्राम में प्रवेश के लिए आवेदन आमंत्रित किए

Wednesday, Jul 28, 2021 | Last Update : 11:58 AM IST


आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी ने काॅर्पोरेट सोशल रिस्पाॅन्सिबिलिटी एंड सस्टेनेबल डेवलपमेंट में पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा प्रोग्राम में प्रवेश के लिए आवेदन आमंत्रित किए

यूजीसी नेशनल स्किल्स क्वालिफिकेशन फ्रेमवर्क के तहत अपनी तरह का एक अनूठा प्रोग्राम
Jun 17, 2021, 6:49 pm ISTNationAazad Staff
आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी
  आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी

  • प्रोग्राम की अवधि - 1 वर्ष (दो सेमेस्टर)
  • आवेदन प्रस्तुत करने की अंतिम तिथि - 25 जुलाई, 2021
  • कक्षाओं की शुरुआत - 9 अगस्त, 2021 से
  • प्रोग्राम की कुल फीस - 45,000 रुपए
  • पात्रता - कोई भी मान्यता प्राप्त स्नातक डिग्री, या बैचलर आॅफ वोकेशनल स्टडीज (बी. वोक)
  • अध्ययन के विषय - रूरल, रूर्बन और अरबन डेवलपमेंट ट्रांसफाॅर्मेशन आदि की योजना, कार्यान्वयन और प्रबंधन
  • प्रवेश के लिए व्यक्तिगत साक्षात्कार की तिथि - 30-31 जुलाई, 2021
  • कैरियर के अवसर - देश में सीएसआर को कॉर्पोरेट रणनीति और दीर्घकालिक विकास के साथ एकीकृत करके आर्थिक और सामाजिक मूल्य निर्माण के लिए एक उपकरण के रूप में सीएसआर का क्षेत्र तेजी से उभर रहा है। भारतीय कंपनियां अब कर्मचारी कल्याण और दान से आगे बढ़ते हुए सीएसआर को और आगे तक ले जाने के लिए तैयार हैं। सीएसआर और सस्टेनेबल मैनेजमेंट में ग्रेजुएट छात्र ऐसे पदों पर नियुक्ति का अवसर हासिल कर सकते हंै- जैसे, सस्टेनेबिलिटी स्पेशलिस्ट, सोलर ऑपरेशंस सर्वेयर, डेवलपमेंट कंसल्टेंट, सीएसआर कंसल्टेंट, एनर्जी एंड एलईईडी एनालिस्ट, सोशल कंप्लायंस एनालिस्ट आदि।

आगामी शैक्षणिक सत्र के लिए इस प्रोग्राम की शुरुआत करते हुए आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी के प्रेसीडेंट डॉ. पी आर सोडानी ने कहा, ‘‘कॉर्पोरेट सोशल रिस्पाॅन्सिबिलिटी एंड सस्टेनेबल डेवलपमेंट में पीजी डिप्लोमा प्रोग्राम देश में अपनी तरह का एक अभिनव और पहला वर्क-इंटीग्रेटेड प्रोग्राम है, जिसके माध्यम से सीएसआर और सस्टेनेबल डेवलपमेंट के मैनेजमेंट में क्षमता निर्माण पर जोर दिया जाता है।

कार्यक्रम का उद्देश्य छात्रों को कॉर्पोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व और दीर्घकालिक विकास की अवधारणा के साथ-साथ कौशल से लैस करना है, जो स्वतंत्र रूप से सीएसआर से संबंधित योजनाएं बनाने और उनके कार्यान्वयन के लिए आवश्यक है। बेहतर पहुंच और प्रासंगिकता के लिहाज से इस प्रोग्राम के लिए इंडिया सीएसआर के साथ इंडस्ट्री सहयोग किया जा रहा है। इस तरह यह प्रोग्राम ऐसे विद्यार्थियों के लिए उपयुक्त है, जो सीएसआर संबंधी गतिविधियों के माध्यम से रूरल, रूर्बन और अरबन क्षेत्रों में विकास परिवर्तन के साथ जुड़ना चाहते हैं और इसी क्षेत्र में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं।‘‘

चयन प्रक्रिया - पात्र उम्मीदवारों को व्यक्तिगत साक्षात्कार (पीआई) के लिए आमंत्रित किया जाएगा। उम्मीदवार का अंतिम चयन व्यक्तिगत साक्षात्कार (पीआई) में उसके प्रदर्शन पर आधारित है।

’’’नोट - पीआई की तिथि यूजीसी दिशानिर्देशों के अनुसार परिवर्तन के अधीन है प्रत्येक कार्यक्रम में सीटों की संख्या सीमित है और पहले आओ पहले पाओ के आधार पर भरी जाएंगी।

प्रोग्राम की मुख्य विशेषताएं-
इस पाठ्यक्रम को पूरा करने पर छात्र दिए गए संदर्भ के तहत पहचाने गए प्राथमिकता वाले क्षेत्रों में सीएसआर योगदान की निगरानी और मूल्यांकन करते हुए कॉर्पोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व की आवश्यकता को सफलतापूर्वक प्राप्त करने में सक्षम होंगे। साथ ही इस कार्यक्रम को पूरा करने के बाद उम्मीदवार अपनी संबंधित कंपनी के विजन और मिशन के अनुकूल सीएसआर पहल विकसित कर सकेंगे और इस तरह वे कॉर्पोरेट रणनीति और सीएसआर को सफल बनाने मंे अपना योगदान दे सकेंगे। साथ ही वे उद्योग के अग्रणी लोगों द्वारा विकसित किए गए सीएसआर कार्यक्रमों का स्वतंत्र रूप से कार्यान्वयन कर सकेंगे।

महत्वपूर्ण जानकारी
प्रवेश के इच्छुक उम्मीदवार ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं-
https://applications.iihmr.edu.in/applicationform-for-diploma-program-for-iihmr-u

Website: www.iihmr.edu.in

...

Featured Videos!